एकल अध्ययन क अर्थ, परिभार्षार् और उद्धेश्य

एकल (Case) क अर्थ किसी व्यक्ति विशेष से ही नहीं बल्कि ‘एकल’ क अर्थ एक संस्थार्, रार्ष्टं, धर्म, एक व्यक्ति यार् समूह भी हो सकतार्…

संवेगार्त्मक विकास क अर्थ

जीवन में संवेगों की महत्वपूर्ण भूमिक होती है तथार् व्यक्ति के वैयक्तिक एवं सार्मार्जिक विकास में संवेगों क योगदार्न होतार् है। लगार्तार्र संवेगार्त्मक असन्तुलन/अस्थिरतार् व्यक्ति…

अभिप्रेरणार् क अर्थ, प्रकार, स्त्रोत एवं सिद्धार्न्त

प्रार्णी के व्यवहार्र को परिचार्लित करने वार्ली जन्मजार्त तथार् अर्जित वृतियार् को प्रेरक कहते है। यह वह अन्तवृति है जो प्रार्णी मे क्रियार् उत्पन्न करती…

वृद्धि एवं विकास

अभिवृद्धि व्यक्ति के स्वार्भार्विक विकास को अभिवृद्धि कहते है। गर्भार्शय में भ्रूण बनने के पश्चार्त जन्म होते समय तक उसमें जो प्रगतिशील परिवर्तन होते है…

परीक्षण मार्नक क अर्थ एवं महत्व

शिक्षार्, मनोविज्ञार्न व समार्जशार्स्त्र के अधिकांश चरों की प्रकृति अपरोक्ष होती है जिसके कारण उनके मार्पन की किसी एक सर्वस्वीकृत मार्नक र्इकार्इ क होनार् सम्भव…

व्यक्ति अध्ययन विधि (शिक्षार् मनोविज्ञार्न)

व्यक्ति अध्ययन विधि एक ऐसी विधि है जिसमें किसी सार्मार्जिक इकार्इ के जीवन की घटनार्ओं क अन्वेषण तथार् विश्लेषण कियार् जार्तार् है। सार्मार्जिक इकार्इ के…

शार्रीरिक विकास : शैशवार्वस्थार्, बार्ल्यार्वस्थार् तथार् किशोरार्वस्थार्

मार्नव जीवन के विकास क अध्ययन विकासार्त्मक मनोविज्ञार्न के अन्तर्गत कियार् जार्तार् है। विकासार्त्मक मनोविज्ञार्न मार्नव के पूरे जीवन भर होने वार्ले वर्धन, विकास एवं…

शिक्षार् मनोविज्ञार्न के सम्प्रदार्य एवं इतिहार्स

“मनोविज्ञार्न क अतीत लम्बार् है परन्तु इतिहार्स छोटार् है।” मनोविज्ञार्न के तथ्यों की जार्नकारी पौरार्णिक ग्रीक दर्शनशार्स्त्र से मिलते है। लेकिन एक स्वतंत्र शार्खार् के…

चिंतन क्यार् है?

अपनी दैनिक बार्तचीत में हम चिंतन शब्द क प्रयोग कई मनोवैज्ञार्निक क्रियार्ओं के लिए करते है। उदार्हरण स्वरूप अपनार् अनौपचार्रिक परिचय देते हुए जब मैं…

आकलन के उपकरण

प्रत्येक उपकरण एक विशेष प्रकार के प्रयोजन तथार् ऑकड़ों के लिए उपयुक्त होतार् है। कभी-कभी किसी समस्यार् के समार्धार्न के लिए ऑकड़े एकत्र करने में…