चिंतार् क अर्थ, परिभार्षार् एवं लक्षण

चिन्तार् वस्तुत: एक दु:खद भार्वनार्त्मक स्थिति होती है। जिसके कारण व्यक्ति एक प्रकार के अनजार्ने भय से ग्रस्त रहतार् है, बेचैन एवं अप्रसन्न रहतार् है।…