चार्वाक दर्शन
लोक में अन्यन्त प्रिय लोकायत- दर्शन ही चावार्क-दर्शन कहलार्तार् है। देवतार्ओं के गुरू बृहस्पति द्वार्रार् प्रणीत होने के कारण इसक नार्म बाहस्पत्य-दर्शन है। ईश्वर [...]

TOP