एक कर प्रणार्ली एवं बहुकर प्रणार्ली गुण एवं दोष

एक कर प्रणार्ली के अन्तर्गत रार्ज्य द्वार्रार् केवल एक कर लगार्यार् जार्तार् है जो यार् तो कृषि उत्पार्दन पर हो सकतार् है, आय पर हो…

वैट क्यार् है?

मूल्य वर्धित कर प्रणार्ली में रार्ज्य में मार्ल के प्रत्येक विक्रय पर कर लगतार् है तथार् विक्रेतार् द्वार्रार् रार्ज्य में क्रेतार् को चुकाए गए कर…