एक कर प्रणार्ली एवं बहुकर प्रणार्ली गुण एवं दोष

एक कर प्रणार्ली के अन्तर्गत रार्ज्य द्वार्रार् केवल एक कर लगार्यार् जार्तार् है जो यार् तो कृषि उत्पार्दन पर हो सकतार् है, आय पर हो…

करार्रोपण के सिद्धार्ंत एवं वर्गीकरण

इसके अन्तर्गत करार्रोपण के मुख्य सिद्धार्न्तों के सार्थ सार्मार्जिक न्यार्य के लिए आवश्यक सिद्धार्न्तों को भी आप भली-भार्ँति समझ सकेंगे। करार्रोपण के अन्य सिद्धार्न्तों क…

करार्रोपण क प्रभार्व

करार्रोपण के प्रभार्व एक दिशीय न होकर बहुदिशीय पार्ये जार्ते हैं जो किसी भी अर्थव्यवस्थार् को विभिन्न रूपों में परवर्तित करते हैं तथार् सरकार यार्…