अन्तर्विवार्ह क्यार् है?

अन्तर्विवार्ह क तार्त्पर्य है एक व्यक्ति अपने जीवन-सार्थी क चुनार्व अपने ही समूह में से करे। इसे परिभार्षित करते हुए डॉ. रिवर्स लिखते हैं, अन्त:विवार्ह…