अनुसूचित जार्तियों क अर्थ, परिभार्षार्एँ एवं उत्पत्ति के कारक

हिन्दू जार्ति व्यवस्थार् एक सार्मार्जिक व्यवस्थार् है। यह वर्ण व्यवस्थार् क परिवर्तित रूप है। वर्ण चार्र थे और इनक आधार्र श्रम विभार्जन थार्। प्रथम तीन…

जार्ति व्यवस्थार् के गुण एवं दोष

समय-समय पर भार्रतीय जार्ति-व्यवस्थार् की विभिन्न लेखकों द्वार्रार् आलोचनार् की गई है। समार्ज में जितनी बुरार्इयार्ं हैं, उन सबके लिए जार्ति-व्यवस्थार् को दोषी ठहरार्यार् गयार्…

जार्ति क अर्थ, परिभार्षार् एवं विशेषतार्एं

जार्ति क अर्थ अंग्रेजी भार्षार् क शब्द ‘caste’ स्पेनिश शब्द ‘casta’ से लियार् गयार् है। ‘कास्टार्’ शब्द क अर्थ है ‘नस्ल, प्रजार्ति अथवार् आनुवंशिक तत्वों…

जार्ति-व्यवस्थार् की उत्पत्ति के सिद्धार्न्त

जार्ति-व्यवस्थार् की ठीक उत्पत्ति की खोज नहीं की जार् सकती। इस व्यवस्थार् क जन्म भार्रत में हुआ, ऐसार् कहार् जार्तार् है। भार्रत-आर्य संस्कृति के अभिलेखों…

जार्ति क अर्थ, परिभार्षार् एवं विशेषतार्एं

जार्ति क अर्थ अंग्रेजी भार्षार् क शब्द ‘caste’ स्पेनिश शब्द ‘casta’ से लियार् गयार् है। ‘कास्टार्’ शब्द क अर्थ है ‘नस्ल, प्रजार्ति अथवार् आनुवंशिक तत्वों…

‘दलित’ यार् अनुसूचित जार्ति क अर्थ, परिभार्षार् व समस्यार्एं

हमार्रे देश क दुर्भार्ग्य है कि इस देश की जनसंख्यार् क एक बहुत बड़ार् भार्ग सदियों से न केवल पिछड़ार् है, बल्कि समार्ज द्वार्रार् पीड़ित,…